Followers

Sunday, 2 March 2014

केवल तू

The only vision I have is your sight
The only thing I follow is your light

Everyone finds his repose in sleep
Sleep from my eyes has taken flight
दीखता मुझको जो केवल तू है
जिसके पीछे  चलता मैं, ज्योति तेरी
चैन पाते सब नींद में जिस
उड़ चुकी वो ही मेरी आँख से है

HafizThe only vision I have is your sight
The only thing I follow is your light

Everyone finds his repose in sleep
Sleep from my eyes has taken flight

Hafiz

2 comments:

  1. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
    --
    आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा कल मंगलवार (04-03-2014) को "कभी पलट कर देखना" (चर्चा मंच-1541) पर भी होगी।
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete
  2. खोज लेगा वो बहाने चैन देने के ... अर्थपूर्ण अभिव्यक्ति ...

    ReplyDelete